Movie Info

    • Singers

      Mukesh, Usha Khanna & Prem Dhawan
    • Lyricists

      K.Manohar
    • Music Directors

      Usha Khanna
    • Mood/Type

      Patriotic

    • Views

      249691

    • Purchase Track

Chhodo Kal Ki Baaten lyrics

Singers: Mukesh & Chorus Movie: Hum Hindustaani (1960) chhodo kal ki baaten, kal ki baat puraani nae daur men likhenge, mil kar nai kahaani ham hindustaani, ham hindustaani aaj puraani zanjiron ko tod chuke hain kya dekhen us manzil ko jo chhod chuke hain chaand ke dar par ja pahuncha hai aaj zamaana nae jagat se ham bhi naata jod chuke hain naya khoon hai, nai umangen, ab hai nai javaani ham hindustaani, ham hindustaani...... ham ko kitane taajamahal hain aur banaane kitane hain ajanta ham ko aur sajaane abhi palatna hai rukh kitane dariyaaon ka kitane parbat raahon se hain aaj hataane naya khoon hai, nai umangen, ab hai nai javaani ham hindustaani, ham hindustaani...... aao mehanat ko apana imaan banaaen apane haathon se apana bhagavaan banaaen raam ki is dharati ko, gautam ki bhumi ko sapanon se bhi pyaara hindustaan banaaen naya khoon hai, nai umangen, ab hai nai javaani ham hindustaani, ham hindustaani...... har zarra hai moti, aankh uthaakar dekho mitti men sona hai, haath badhaakar dekho sone ki ye ganga hai chaandi ki yamuna chaaho to patthar pe dhaan ugaakar dekho naya khoon hai, nai umangen, ab hai nai javaani ham hindustaani, ham hindustaani...... ****************************************** छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नई कहानी हम हिंदुस्तानी, हम हिंदुस्तानी आज पुरानी ज़ंजीरों को तोड़ चुके हैं क्या देखें उस मंज़िल को जो छोड़ चुके हैं चांद के दर पर जा पहुंचा है आज ज़माना नए जगत से हम भी नाता जोड़ चुके हैं नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी हम हिंदुस्तानी, हम हिंदुस्तानी...... हम को कितने ताजमहल हैं और बनाने कितने हैं अजंता हम को और सजाने अभी पलटना है रुख कितने दरियाओं का कितने परबत राहों से हैं आज हटाने नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी हम हिंदुस्तानी, हम हिंदुस्तानी...... आओ मेहनत को अपना ईमान बनाएं अपने हाथों से अपना भगवान बनाएं राम की इस धरती को गौतम कि भूमी को सपनों से भी प्यारा हिंदुस्तान बनाएं नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी हम हिंदुस्तानी, हम हिंदुस्तानी...... हर ज़र्रा है मोती आँख उठाकर देखो मिट्टी में सोना है हाथ बढ़ाकर देखो सोने कि ये गंगा है चांदी की यमुना चाहो तो पत्थर पे धान उगाकर देखो नया खून है नई उमंगें, अब है नई जवानी हम हिंदुस्तानी, हम हिंदुस्तानी...... --------------------------------------------------- [submitted on 21-Nov-2008]