Tera Mera Pyaar Amar lyrics

(tera mera pyaar amar, phir kyon mujhako lagata hai dar)-2 mere jivan saathi bata, kyon dil dhadake rah-rah kar kya kaha hai chaand ne, jisako sunake chaandani har lahar pe jhum ke, kyon ye naachane lagi chaahat ka hai harasu asar, phir kyon mujh ko lagata hai dar tera mera pyaar amar.... kah raha hai mera dil, ab ye raat na dhale khushiyon ka ye silasila, aise hi chala chale tujhako dekhun, dekhun jidhar, phir kyon mujh ko lagata hai dar tera mera pyaar amar...... hai shabaab par umang, har khushi javaan hai meri donon baahon men, jaise aasmaan hai chalati hun main taaron par, phir kyon mujh ko lagata hai dar tera mera pyaar amar....... **************************************** (तेरा मेरा प्यार अमर, फिर क्यों मुझको लगता है डर)-२ मेरे जीवन साथी बता, क्यों दिल धड़के रह-रह कर क्या कहा है चाँद ने, जिसको सुनके चाँदनी हर लहर पे झूमके, क्यों ये नाचने लगी चाहत का है हरसू असर, फिर क्यों मुझको लगता है डर तेरा मेरा प्यार अमर.... कह रहा है मेरा दिल, अब ये रात न ढले खुशियों का ये सिलसिला, ऐसे ही चला चले तुझको देखूँ, देखूँ जिधर, फिर क्यों मुझको लगता है डर तेरा मेरा प्यार अमर...... है शबाब पर उमंग, हर खुशी जवान है मेरी दोनों बाहों में, जैसे आस्मान है चलती हूँ मैं तारों पर, फिर क्यों मुझको लगता है डर तेरा मेरा प्यार अमर....... [submitted on 05-May-2008]